Monday, March 5, 2012

उमर गुजर जाए तो प्यार नही किया जाता











   तसलीमा नसरीन

 
उम्र गुज़र जाए, तो क्या प्यार नहीं किया जाता?

 

 तुम सिर्फ़ तीस के लगते हो, वैसे तुम हो तिरसठ के !
बहरहाल, तिरसठ के हो या तीस के, किसी को क्या फ़र्क़ पड़ता है ?
तुम, तुम हो; तुम जैसे; ठीक वैसे, जैसा तुम्हें फबता है।
 

जब-जब झाँकती हूँ, तुम्हारी युगल आँखों में
लगता है, पहचानती हूँ उन आँखों को दो हज़ार वर्षों से !
होठ या चिबुक, हाथ या उँगलियाँ,
जिस पर भी पड़ती है निगाह, लगता है पहचानती हूँ इन्हें।
 

दो हज़ार क्यों, इससे भी काफ़ी पहले से पहचान है मेरी,
इतनी गहरी है पहचान कि लगता है, जब चाहूँ छू सकती हूँ उन्हें,
किसी भी वक़्त,
 

रात या दोपहर, यहाँ तक कि आधी-आधी रात को भी !
यह भी लगता है जैसे चाहूँ, उनमें पुलक जगा सकती हूँ,
रात जगा सकती हूँ,  

चिमटी काट सकती हूँ, चूम सकती हूँ, मानो वे सब मेरे कुछ लगते हैं।
तीस-तीस साल के लगनेवाले मेरे अहसासों की तरफ तुमने,
 

देखा है कई-कई बार,
लेकिन कुछ कहा नहीं ! हर कोई किसी को भी !
लेकिन मुझे तो तुम्हारे कुछ कहने का इन्तज़ार था,

लेकिन कुछ नहीं कहा तुमने,
मैं परखती रही, शायद मन ही मन कुछ कहो,
लेकिन नहीं, तुमने कुछ भी नहीं कहा !
क्यों ?
उम्र गुज़र जाए, तो क्या प्यार नहीं किया जाता ?

 

 

*************************************************************

 


 

 

 



 

5 comments:

  1. बहुत सुन्दर रचना...
    सच है प्यार कभी उम्र का मोहताज़ नहीं होता..


    कुछ और भूमिका की भी उम्मीद कर रहे थे आपकी पोस्ट पर...
    शुक्रिया

    आपकी होली शुभ हो .

    ReplyDelete
  2. Replies
    1. तुम सिर्फ़ तीस के लगते हो, वैसे तुम हो तिरसठ के !
      बहरहाल, तिरसठ के हो या तीस के, किसी को क्या फ़र्क़ पड़ता है ?
      तुम, तुम हो; तुम जैसे; ठीक वैसे, जैसा तुम्हें फबता है।

      बेहतरीन कविता . आभार ! आपका चयन काफी उम्दा किस्म का होता है. रचनाएँ भावविभोर कर देती है.
      तसलीमा नसरीन की एक सुन्दर फोटो आपने लगाई है. परन्तु रचना में कौन किसके लिए कविता कर रहा है पता नहीं चल पाया. थोड़ा परिचय की जरूरत थी.
      होली की अनेकानेक शुभकामनाएं.

      Delete
  3. बेहतरीन रचना प्रस्तुति,सुंदर भाव ....पर रचना के रचनाकार कौन है,..

    होली की बहुत२ बधाई शुभकामनाए...प्रेम जी

    RECENT POST...काव्यान्जलि ...रंग रंगीली होली आई,

    ReplyDelete
  4. बेहतरीन! लाजवाब!!

    ReplyDelete